top of page
खोज करे

बाइबिल के 5 सर्वश्रेष्ठ भविष्यवक्ता कौन हैं? भविष्यवाणी क्यों?

परमेश्वर ने भविष्यवाणी को बाइबल के प्रमाण के रूप में दिया। यदि आप परमेश्वर होते तो आप मनुष्यों को पर्याप्त प्रमाण कैसे देते कि आप ईमानदारी की परीक्षा में पास होने या अस्वीकार किए जाने के लिए मौजूद हैं? आप उन्हें कैसे बताएंगे कि आप भगवान हैं? क्या आप उन्हें एक किताब भेजेंगे? क्या आप दिखाएंगे कि उनके आसपास इस बात का सबूत है कि सृष्टि से भी बड़ा कोई मौजूद है? बाइबिल के 5 सर्वश्रेष्ठ भविष्यवक्ता कौन हैं? हमें पहले भविष्यवाणी की आवश्यकता को स्थापित करने की आवश्यकता है।




जैसा कि मनुष्य नहीं बता सकते हैं कि 1000 वर्षों में क्या होगा और भगवान कर सकते हैं, इसलिए यह एक शानदार तरीका है कि भगवान हमें यह बताएं कि यह पुस्तक उनकी ओर से है। बाइबिल सैकड़ों भविष्यवाणियों से भरा है? यीशु के जन्म से पहले उसके आने के बारे में 300 से अधिक भविष्यवाणियाँ हैं।


क्या 52 लिखित 650 बीसी हमें बताता है कि यीशु को सम्मानित नहीं किया जाएगा, कि वह पीड़ित होगा और उसे अस्वीकार कर दिया जाएगा। यशायाह 63 कहता है कि यीशु को एक मेमने के रूप में वध के लिए ले जाया जाएगा और वह मर जाएगा। बाइबिल का अद्भुत प्रमाण जैसा कि यह यीशु के जन्म से 650 साल पहले लिखा गया था।


IS 53 3 वह तुच्छ जाना जाता और मनुष्योंका त्यागा हुआ है; वह दु:खी पुरूष है, और शोक से उसकी पहिचान है; और हम ने मानो उस से मुंह फेर लिया; वह तुच्छ जाना गया, और हम ने उसका मूल्य न जाना। 4 निश्चय उस ने हमारे दु:खों को सह लिया और हमारे ही दु:खों को उठा लिया; तौभी हम ने उसे परमेश्वर का मारा-कूटा और दुर्दशा में पड़ा हुआ समझा।


5 परन्तु वह हमारे ही अपराधो के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामोंके हेतु कुचला गया; हमारी ही शान्ति के लिथे उस पर ताड़ना पक्की यी; और उसके कोड़े खाने से हम चंगे हो गए... 7 वह सताया गया, और वह पीड़ित हुआ, तौभी उसने अपना मुंह न खोला; उसका मुँह नहीं।


अन्य तरीके जो ईश्वर और बाइबिल को सच साबित करते हैं, वे हैं सृष्टि, पुरातत्व, भविष्यवाणी आदि। बाइबिल की भविष्यवाणी बहुत सटीक और निश्चित है, जो कई लोगों के विपरीत है जिन्होंने कभी बाइबिल भविष्यवाणी के दावे को पढ़ा और अध्ययन नहीं किया है। कई लोग दावा करते हैं कि ये भविष्यवाणियाँ अस्पष्ट हैं जब मैं उनसे पूछता हूँ, मुझे इस भविष्यवाणी की व्याख्या करें जो वे नहीं कर सकते। किसी विषय पर बात करने से पहले अध्ययन करना एक अच्छा विचार है।




आजकल ऐसा बहुत हो रहा है कि ज्ञान की कमी के कारण लोग ऐसे विषय पर बात करने लगते हैं जिसके बारे में उन्हें कोई समझ ही नहीं होती। आइए जानें कि बाइबिल के 5 सर्वश्रेष्ठ भविष्यवक्ता कौन हैं।


बाइबिल के 5 सर्वश्रेष्ठ भविष्यवक्ता कौन हैं? एलिजा

एलिय्याह की कहानी अद्भुत है, उसके पास परमेश्वर के बहुत से रूप थे। परमेश्वर उन लोगों के द्वारा कार्य करता है जो इस संसार के अनुरूप नहीं हैं। जो लोग पित्त और देवताओं के तरीकों का पालन करते हैं। जो लोग विश्वास करते हैं और जानते हैं कि परमेश्वर उनके लिए काम करेगा एलिय्याह परमेश्वर का एक अद्भुत व्यक्ति था यहाँ तक कि याकूब कहता है, एलिय्याह सिर्फ एक पुरुष था।


एलिय्याह परमेश्वर से बारिश रोकने के लिए कहता है और बारिश सालों तक रुक जाती है।

JA 5 17 17 एलिय्याह भी हमारी नाईं दु:खोंके आधीन या, और उस ने गिड़गिड़ाकर प्रार्यना की कि मेंह न बरसे; और साढ़े तीन वर्ष तक भूमि पर मेंह न बरसा।


1 KI 17 तब गिलाद के रहनेवाले तिशबी एलिय्याह ने अहाब से कहा, इस्राएल का परमेश्वर यहोवा जिसके सम्मुख मैं उपस्थित रहता हूं, उसके जीवन की शपथ इन वर्षोंमें मेरे वचन के अनुसार न तो ओस पड़ेगी और न मेंह बरसेगा।

एजिय्याह को यह सन्देश राजा अहाब को देने के लिए मिला, उसने सन्देश पर विश्वास किया। हम नहीं जानते कि यह एक छाप थी, लेकिन यह विश्वास करने के लिए विश्वास की आवश्यकता है कि भगवान ने क्या कहा कि वह इस संदेश के साथ राजा के सामने खड़े होंगे। यदि आप एलिय्याह को यह संदेश देने और संदेह करने की कल्पना कर सकते हैं कि क्या संदेश ईश्वर की ओर से था और यह नहीं हो रहा है?


2 तब यहोवा का यह वचन उसके पास पहुंचा, 3 यहां से चलकर पूर्व दिशा की ओर मुंह करके करीत नाम नाले में जो यरदन के साम्हने है छिप जा। 4 और उस नाले में से तू पीना; और मैं ने कौवों को आज्ञा दी है, कि वे तुझे वहां खिलाएं।

यहाँ अभी और विश्वास की आवश्यकता है। एलिय्याह के पास नौकरी नहीं थी और भगवान ने कहा कि मैं तुम्हें खिलाने के लिए पक्षी भेजूंगा। आपने कब देखा है कि पक्षी लोगों को भोजन भेजते हैं? लेकिन एलिय्याह ने परमेश्वर पर विश्वास किया और पक्षियों ने एलिय्याह को देखा।




एलिय्याह ने जेवनार की, और इस्राएल के सब रहनेवालोंको न्योता दिया। उनमें से बहुतों ने बाल की पूजा की। यह वह महान क्षण था जब सच्चे परमेश्वर स्वयं को प्रकट करेंगे। यदि एलिय्याह यहाँ विफल हो जाता है तो इसका अर्थ है कि वह बाल के 850 से अधिक नबियों और सभी लाखों इस्राएली नागरिकों द्वारा मारा गया होता। बाइबिल के 5 सर्वश्रेष्ठ भविष्यवक्ता कौन हैं? एलिय्याह को बाइबल में सबसे अच्छे नबी के रूप में जाना जाता है।


1 KI 18 21 तब एलिय्याह सब लोगोंके पास आकर कहने लगा, तुम कब तक दो मतोंमें पके रहोगे? यदि यहोवा परमेश्वर है, तो उसके पीछे हो लो: परन्तु यदि बाल हो, तो उसके पीछे हो लो। और लोगों ने उसके उत्तर में एक शब्द भी न कहा।


एलिय्याह को परमेश्वर पर भरोसा है, यह धारणा नहीं है जब एलिय्याह आग में कूदता है, और परमेश्वर को उसे बचाने के लिए कूदने का प्रलोभन देता है। यहाँ बाल के भविष्यवक्ताओं कोई संकेत नहीं दिखा सकते कि वे मौजूद नहीं हैं और वे हार गए।


1 KI 18 26 और उन्होंने उस बछड़े को जो उन्हें दिया या, लेकर पहिनाया, और भोर से दोपहर तक यह कहकर बाल से प्रार्थना करते रहे, कि हे बाल, हमारी सुन। लेकिन न कोई आवाज आई और न ही कोई जवाब आया। और वे उस वेदी पर जो बनाई गई यी, कूद गए। 27 दोपहर को एलिय्याह ने यह कहकर उनका ठट्ठा किया, कि ऊंचे शब्द से पुकारो, क्योंकि वह देवता है; या तो वह बोल रहा है, या वह पीछा कर रहा है, या वह यात्रा में है, या वह सोता है, और उसे जागना चाहिए। 28 और उन्होंने ऊंचे शब्द से पुकार पुकार कर अपक्की रीति के अनुसार छुरियोंऔर बर्छियोंसे अपके अपके को यहां तक घायल किया, कि लोहू लुहान हो गए।


तब एलिय्याह प्रकट होता है और परमेश्वर को पुकारता है जो आग भेजता है और बलिदान को भस्म कर देता है।

1 KI 18 37 हे यहोवा, मेरी सुन, मेरी सुन, जिस से यह लोग जान लें कि तू ही परमेश्वर यहोवा है, और तू ही ने उनका मन फेर दिया है। 38 तब यहोवा की आग प्रगट हुई, और होमबलि को लकड़ी और पत्थरोंऔर धूलि समेत भस्म कर दिया, और गड़हे में का जल भी सुखा दिया। 39 यह देखकर सब लोग मुंह के बल गिरके कहने लगे, यहोवा ही परमेश्वर है; यहोवा, वह परमेश्वर है।



बाइबिल के 5 सर्वश्रेष्ठ भविष्यवक्ता कौन हैं? सिंह भविष्यवक्ता

यह 1 राजा 13 में पाया जाता है जहां एक नबी यारोबाम को संदेश देने आता है

1 KI 13 1 और देखो, यहोवा से वचन पाकर परमेश्वर का एक जन यहूदा से बेतेल में आया, और यारोबाम धूप जलाने को वेदी के पास खड़ा हुआ।

1 KI 13 2 और उस ने यहोवा से वचन पाकर वेदी के विरुद्ध दोहाई दी, और कहा, हे वेदी, हे वेदी, यहोवा योंकहता है; देख, दाऊद के घराने में योशिय्याह नाम से एक बालक उत्पन्न होगा; और वह ऊंचे स्यानोंके याजकोंको जो तुझ पर धूप जलाते हैं उनको वह तुझ पर बलि करेगा, और तुझ पर मनुष्योंकी हडि्डयां जलाई जाएंगी।।


इस संदेश पर राजा चकित रह गया। उसके बाद एक राजा शासन करेगा और तब यह वेदी जलाने का काम करेगी जिसका अर्थ है हड्डियाँ।


1 KI 13 3 And he gave a sign the same day, saying, This is the sign which the Lord hath spoken; Behold, the altar shall be rent, and the ashes that are upon it shall be poured out.

1 KI 13 4 And it came to pass, when king Jeroboam heard the saying of the man of God, which had cried against the altar in Bethel, that he put forth his hand from the altar, saying, Lay hold on him. And his hand, which he put forth against him, dried up, so that he could not pull it in again to him.


When the king heard this prophecy he asked his servants to get the men of God . But the hand that he stretched forth became dry . A clear sign of divine justice reaching him. A clear sign that this prophet is a prophet of God .


1 KI13 5 उस चिन्ह के अनुसार जो परमेश्वर के भक्त ने यहोवा के वचन के द्वारा दिया या, वेदी फट गई, और उस पर से राख गिर गई।

1 KI 13 6 राजा ने उत्तर देकर परमेश्वर के भक्त से कहा, अपके परमेश्वर यहोवा से बिनती कर, और मेरे लिथे प्रार्यना कर, कि मेरा हाथ फिर से ज्यों का त्योंहो जाए। तब परमेश्वर के जन ने यहोवा से बिनती की, और राजा का हाथ फिर ज्यों का त्यों हो गया।

राजा ने उस नबी से दया मांगी जो मानव रहित है। भगवान की दया बीच में आई और राजा ठीक हो गया।


1 KI 13 7 और राजा ने परमेश्वर के भक्त से कहा, मेरे संग घर चल, और अपना जी ठण्डा कर, और मैं तुझे बदला दूंगा।

1 KI 13 8 और परमेश्वर के जन ने राजा से कहा, यदि तू अपना आधा घर मुझे दे, तो मैं तेरे संग भीतर न जाऊंगा, और इस स्यान में न तो मैं रोटी खाऊंगा और न पानी पीऊंगा;

1 KI 13 9 क्योंकि यहोवा ने मुझे यह आज्ञा दी यी, कि न तो रोटी खाना, और न पानी पीना, और जिस मार्ग से तू आया है उसी से फिर न जाना।


भविष्यद्वक्ता से कहा गया था कि जब तक वह लौट न आए तब तक न तो रुकेगा और न ही कहीं खाएगा।

1 KI 13 10 सो वह दूसरे मार्ग से चला, और जिस मार्ग से बेतेल को पहुंचा या, उस से न लौटा।

1 KI 13 11 बेतेल में एक बूढ़ा नबी रहता या; और उसके पुत्रोंने आकर उस से सब कामोंका वर्णन किया जो परमेश्वर के भक्त ने उस दिन बेतेल में किए थे; जो बातें उस ने राजा से कही यी, वे अपके पिता से भी कह सुनाई।


यहाँ कहानी का अजीब और मूल हिस्सा है। एक और भविष्यद्वक्ता प्रकट होता है और उससे कहता है, चिंता मत करो तुम मेरे पीछे आ सकते हो और खा सकते हो क्योंकि भगवान ने मुझ पर प्रकट किया है कि तुम मेरे घर पर खा सकते हो। और बिना नाम का भविष्यद्वक्ता उसका अनुसरण करता है और परमेश्वर की अवज्ञा करता है। मेरे दिमाग में कोई सोचता होगा, शायद भगवान ने इस दूसरे नबी के माध्यम से बात की है और भगवान ने अपना विचार बदल दिया है। पर ये स्थिति नहीं है। ऐसा लगता है कि इस भविष्यद्वक्ता के विरुद्ध परमेश्वर का न्याय बहुत कठोर है।




1 KI 13 12 उनके पिता ने उन से कहा, वह किस मार्ग से गया? क्योंकि उसके पुत्रों ने देखा था कि परमेश्वर का वह जन जो यहूदा से आया या, वह किस मार्ग से जाता है। 1 KI 13 13 और उस ने अपके बेटोंसे कहा, मेरे लिये गदहे पर काठी बान्धो। तब उन्होंने उसके लिये गदहे पर काठी बान्धी, और वह उस पर सवार हुआ, 1 KI 13 14 और परमेश्वर के भक्त के पीछे जाकर उसे बांजवृझ के तले बैठा पाया, और उस से पूछा, क्या तू परमेश्वर का जन है जो यहूदा से आया या? और उसने कहा, मैं हूं। 1 KI 13 15 उस ने उस से कहा, मेरे संग घर चल, और रोटी खा।


1 KI 13 16 उस ने कहा, मैं तेरे संग न लौटूंगा, और न तेरे संग भीतर जाऊंगा; हे यहोवा, तू वहां न तो रोटी खाना और न पानी पीना, और न उस मार्ग से फिर जाना जिस से तू आया है।


1 KI 13 18 उस ने उस से कहा, जैसा तू है वैसा ही मैं भी भविष्यद्वक्ता हूं; और यहोवा से वचन पाकर एक दूत ने मुझ से कहा, कि उस पुरूष को अपके संग अपके घर लौटा ले आ, कि वह रोटी खाए, और पानी पीए। लेकिन उसने उससे झूठ बोला।


ऐसा लगता है जैसे भविष्यवक्ता गिर सकते हैं और शैतान के सेवक बन सकते हैं। यह एक अद्भुत कहानी है कि आज कई ईसाई दावा करते हैं कि एक बार जब आप बच जाते हैं तो आप हमेशा के लिए बच जाते हैं। परन्तु यहाँ हम देखते हैं कि भविष्यवक्ता भी गिर सकते हैं और दुष्ट बन सकते हैं। एक बार बच जाने के बाद हमेशा बचा लिया जाना सच नहीं है। हमारे पास हमेशा यह विकल्प होता है कि हम ईश्वर को चुनें या अविश्वास, घमंड, स्वार्थ और प्रेमहीन भावना में पड़ जाएं।


1 KI 13 19 तब वह उसके संग लौट गया, और उसके घर में रोटी खाई, और पानी पिया। 1 KI 13 20 और वे मेज पर बैठे ही थे, कि यहोवा का वचन उस भविष्यद्वक्ता के पास पहुंचा जो उसे लौटा ले आया या; , यहोवा योंकहता है, क्योंकि तू ने यहोवा के वचन की अवज्ञा की, और जो आज्ञा तेरे परमेश्वर यहोवा ने तुझे दी यी उसको नहीं माना,

यहाँ हम देखते हैं कि परमेश्वर अपने लोगों को परखने और परखने के लिए गिरे हुए भविष्यद्वक्ताओं और परमेश्वर के दूतों को चुन सकता है।


1 KI 13 22 परन्तु जिस स्यान के विषय में यहोवा ने तुझ से कहा या, कि न तो रोटी खाना, और न पानी पीना, उसी में लौटकर रोटी खाई, और पानी पिया है; तेरी लोथ तेरे पुरखाओं की कब्र पर न आने पाएगी।

किसी की मृत्यु होने से पहले उसके बारे में बताना एक डरावनी बात है। परमेश्वर ने इन आदमियों से कहा कि वह जल्द ही मर जाएगा। भगवान का फैसला भयानक है। और हमें आगाह करने की जरूरत है कि जल्द ही दुनिया और हमारा समाज ईश्वर की दया और सहनशीलता की सीमा तक पहुंच जाएगा।


1 KI 13 23 जब वह रोटी खा चुका, और जब वह पी चुका, तब उस ने उस भविष्यद्वक्ता के लिथे जिसे वह लौटा ले आया या, गदहे पर काठी बान्धी। 1 KI 13 24 जब वह मार्ग में जाता या, तब एक सिंह उसको मिला, और उसको मार डाला; और उसकी लोय मार्ग में पड़ी रही, और गदहा उसके पास खड़ा रहा, और सिंह भी लोथ के पास खड़ा रहा।

भगवान ने नबी को खाने के लिए एक शेर भेजा। अविश्वसनीय है कि जानवर भगवान की इच्छा के एजेंट हैं। सभी जानवर जानते हैं कि ईश्वर है, यह एक अचूक प्रमाण है? जानवरों को भगवान द्वारा उपयोग किए जाने के लिए बाइबिल पढ़ने की जरूरत नहीं है।


1 KI 13 25 और लोगोंने पास से जाते हुए क्या देखा, और क्या देखा, कि वह लोथ मार्ग पर पड़ी है, और सिंह लोय के पास खड़ा है; और उन्होंने उस नगर में जहां बूढ़ा भविष्यद्वक्ता रहता या, जाकर इसका समाचार दिया। 1 KI 13 26 यह सुनकर उस भविष्यद्वक्ता ने जो उसे उस मार्ग से लौटा ले आया या, कहा, वह परमेश्वर का जन है, जिस ने यहोवा के वचन की अवज्ञा की; यहोवा के उस वचन के अनुसार जो उस ने उस से कहा या, उसे फाड़कर घात किया।


बहुत दुखद कहानी है कि यह पैगंबर भगवान के लिए इतना आज्ञाकारी था कि जहां भगवान ने उसे बताया और राजा को बड़े खतरे के साथ संदेश दिया। इस बात के लिए कि राजा उसे लगभग मार डालता है। फिर लौटकर आज्ञा न मानने के कारण सिंह के द्वारा आप ही को मार डाला जाए।

1 KI 13 27 और उस ने अपके बेटोंसे कहा, मेरे लिये गदहे पर काठी बान्धो। और उन्होंने उसे काठी दी।

1 KI 13 28 और उस ने जाकर उसकी लोथ मार्ग पर पड़ी हुई, और गदहे और सिंह को लोथ के पास खड़े हुए पाया, और सिंह ने न तो लोय को खाया, और न गदहे को फाड़ा है। 1 KI 13 29 तब उस बूढ़े नबी ने परमेश्वर के भक्त की लोय को उठा कर गदहे पर लाद दिया, और उसके लिथे छाती पीटने लगा, और उसे मिट्टी देने को नगर में आया।


1 KI 13 30 और उस ने उसकी लोय अपक्की कबर में रख दी; और वे यह कहकर उसके लिथे विलाप करने लगे, कि हाय मेरे भाई! 1 KI 13 31 जब उसको मिट्टी दी गई, तब उस ने अपके पुत्रोंसे कहा, कि जब मैं मर जाऊं, तब मुझे इसी कब्र में जिस में परमेश्वर का जन रखा गया है रख देना; मेरी हड्डियाँ उसकी हड्डियों के पास रखना:

बाईबल में यह ऐसे सत्य हैं जहाँ हमें पता चलता है कि हम ईश्वर को नहीं जानते हैं, हम ईश्वर को नहीं समझते हैं, वह अपने अद्भुत व्यक्तित्व के हिस्से के रूप में एक रहस्य बना हुआ है, और ईश्वर से डरने की आवश्यकता है। क्योंकि आज हम भगवान के प्रतिशोधी क्षणों में ज्यादा नहीं हैं इसका मतलब यह नहीं है कि कल लोग भगवान के धैर्य की सीमा पार नहीं करेंगे।


बाइबिल के 5 सर्वश्रेष्ठ भविष्यवक्ता कौन हैं? सैमसन

सभी नबियों में से सैमसन मेरी पसंदीदा कहानी में से एक है। यहाँ हम परमेश्वर की उदारता को इसके विपरीत सेक्स और प्रेम के साथ देखते हैं जो आज के चर्चों की शिक्षा से बहुत अलग है। शिमशोन की अलग-अलग रखैलें हैं, फिर भी परमेश्वर की आत्मा शिमशोन पर है और उसे नहीं छोड़ती। पवित्र आत्मा शिमशोन को तभी छोड़ता है जब वह उस रहस्य को प्रकट करता है जिसे उसे किसी पर प्रकट नहीं करना चाहिए था।


किसी ने शिमशोन को यह रहस्य प्रकट करने के लिए विवश नहीं किया। क्या भगवान के लोग हैं जिन्होंने अपने ही देश की रक्षा की और अपने ही देशवासियों द्वारा उन्हें सौंप दिया गया। जीसस की एक आकृति जिसे उसके ही लोगों ने बेच दिया / लोग कितने कृतघ्न हैं, हमारी दुनिया कितनी कृतज्ञ और दुष्ट है। ये बाइबिल सच्चाई यीशु और अंत समय की घटनाओं के बारे में जानने का एक तरीका है।


बाइबिल के 5 सर्वश्रेष्ठ भविष्यवक्ता कौन हैं? जॉन

रहस्योद्घाटन की किताब बाइबिल में सबसे आश्चर्यजनक किताब में से एक है। यह हमें अंत समय की घटनाओं से लेकर दुनिया के अंत तक और आगे तक का विवरण देता है। यूहन्ना जीवित रहने वाला अन्तिम प्रेरित था। पैट मॉस द्वीप में वह अकेले ही बच गया। वहाँ उन्होंने प्रकाशन की पुस्तक का दर्शन प्राप्त किया और आज हमारे पास यह आश्चर्यजनक प्रकाशन है कि हमें चेतावनी दी जाए कि पृथ्वी पर शीघ्र ही क्या होने वाला है


यूहन्ना यीशु का प्रिय मित्र था। यीशु की तरह कोमल, दयालु और विनम्र। जॉन चरित्र में सबसे ज्यादा यीशु जैसा था। वह प्रेरित है जो यीशु की छाती पर गिरा था जब उन्होंने अंतिम भोजन किया था। यूहन्ना के सुसमाचार और पत्र परमेश्वर के प्रेम से सबसे अधिक भरे हुए हैं क्योंकि यूहन्ना यीशु के सबसे निकट था।


बाइबिल के 5 सर्वश्रेष्ठ भविष्यवक्ता कौन हैं? एलेन जी व्हाइट

अंतिम समय के पैगंबर एलेन जी व्हाइट को रहस्योद्घाटन 12 में उन लोगों के संकेतों के साथ पाया जाता है जो भगवान की आज्ञाओं को मानते हैं और भविष्यवाणी की आत्मा रखते हैं।

12 17 और अजगर स्त्री पर क्रोधित हुआ, और उसकी सन्तान के बचे हुओं से लड़ने को गया, जो परमेश्वर की आज्ञाओं को मानते, और यीशु मसीह की गवाही देने पर स्थिर हैं।


यीशु हमें अपने अंतिम समय की कलीसिया के कुछ स्पष्ट संकेत देते हैं। वे सब्त सहित आज्ञाओं का पालन करते हैं। उनके पास यीशु की गवाही है जो 19 10 कहती है कि भविष्यवाणी की आत्मा है।

वे पुन: 14 के 3 स्वर्गदूतों के संदेश और 12 के अभयारण्य संदेश, इब्रानियों की पुस्तक और 2300 दिनों के दानिय्येल 8 14 संदेश का प्रचार करते हैं।


यह 3 स्वर्गदूतों का संदेश आंदोलन 1260 दिनों के पापल उत्पीड़न के बाद आता है जो 1798 में समाप्त हुआ था। यह पता लगाना निश्चित रूप से आसान है कि आज कौन सब्त रखता है। 3 स्वर्गदूतों के संदेश का प्रचार करता है, अभयारण्य और निर्णय संदेश के बारे में बात करता है। एकमात्र समूह सातवें दिन एडवेंटिस्ट चर्च है। 3000 अद्भुत भविष्यवाणियों और दर्शन के साथ। एलेन जी व्हाइट के माध्यम से भगवान दुनिया को उसके आने वाले कयामत की चेतावनी दे रहे हैं। यहाँ अंत समय के भविष्यवक्ता की कुछ भविष्यवाणियाँ हैं


11 सितंबर भविष्यवाणी 1902 में लिखी गई

एक अवसर पर, जब न्यूयॉर्क शहर में, मैं रात के मौसम में स्वर्ग की ओर कहानी के बाद कहानी बढ़ती इमारतों को देखने के लिए बुलाया गया था। इन इमारतों को अग्निरोधक होने का वारंट दिया गया था, और उन्हें मालिकों और बिल्डरों का महिमामंडन करने के लिए खड़ा किया गया था। ऊंची और इससे भी ऊंची ये इमारतें उठीं, और उनमें सबसे महंगी सामग्री का इस्तेमाल किया गया। . . .

इसके बाद जो दृश्य मेरे सामने से गुजरा वह आग का अलार्म था। पुरुषों ने ऊँचे और कथित रूप से आग से सुरक्षित इमारतों को देखा और कहा: "वे पूरी तरह से सुरक्षित हैं।" लेकिन ये इमारतें पिच की बनी हुई थीं। दमकल की गाड़ियां तबाही को रोकने के लिए कुछ नहीं कर सकीं। दमकलकर्मी इंजनों को चलाने में असमर्थ थे।—चर्च के लिए गवाही, वॉल्यूम। 9, पीपी. 12, 13.

वह समय हमारे ऊपर सही है जब दुनिया में ऐसा दुःख होगा जिसे कोई भी मानव बाम ठीक नहीं कर सकता। दुनिया पर अंतिम महान विनाश आने से पहले ही, मनुष्य की महानता के चापलूसी वाले स्मारक धूल में धंस जाएंगे। परमेश्वर का प्रतिशोधात्मक न्याय उन पर पड़ेगा जो महान प्रकाश के सामने पाप में बने रहे हैं। महंगी इमारतें, जिन्हें अग्निरोधी माना जाता है, खड़ी की जाती हैं। लेकिन जैसे सदोम परमेश्वर के प्रतिशोध की लपटों में नष्ट हो गया, वैसे ही ये गर्वित संरचनाएं राख बन जाएंगी।—साइन्स ऑफ द टाइम्स, अक्टूबर 9, 1901, बल दिया गया।

वह समय हमारे ऊपर सही है जब दुनिया में ऐसा दुःख होगा जिसे कोई भी मानव बाम ठीक नहीं कर सकता। दुनिया पर अंतिम महान विनाश आने से पहले ही, मनुष्य की महानता के चापलूसी वाले स्मारक धूल में धंस जाएंगे। परमेश्वर का प्रतिशोधात्मक न्याय उन पर पड़ेगा जो महान प्रकाश के सामने पाप में बने रहे हैं। महंगी इमारतें, जिन्हें अग्निरोधी माना जाता है, खड़ी की जाती हैं। लेकिन जैसे सदोम परमेश्वर के प्रतिशोध की लपटों में नष्ट हो गया, वैसे ही ये गर्वित संरचनाएं राख बन जाएंगी।—साइन्स ऑफ द टाइम्स, अक्टूबर 9, 1901, बल दिया गया।


"मैंने एक और स्वर्गदूत को जीवित परमेश्वर की मुहर लिए हुए पूर्व से ऊपर की ओर जाते हुए देखा, और उसने चारों स्वर्गदूतों से बड़े शब्द से पुकार कर कहा, जब तक हम उस पर मुहर न लगा दें, तब तक न तो पृथ्वी को हानि पहुंचाओ, न समुद्र को और न पेड़ों को। हमारे परमेश्वर के सेवकों के माथे पर। प्रका. 7:2, 3. चार पराक्रमी स्वर्गदूत अब भी पृथ्वी की चारों हवाओं को थामे हुए हैं। घोर विनाश पूर्ण रूप से आना मना है। भूमि और समुद्र के द्वारा दुर्घटनाएँ; जीवन की हानि, लगातार बढ़ रही है, तूफान से, आंधी से, रेल दुर्घटना से, आग लगने से; भयानक बाढ़, भूकंप, और हवाएँ राष्ट्रों को एक घातक युद्ध के लिए हिलाना होगा, जबकि स्वर्गदूत चारों हवाओं को रोकते हैं, शैतान की भयानक शक्ति को उसके क्रोध में तब तक प्रयोग करने से रोकते हैं जब तक कि परमेश्वर के सेवकों को सील नहीं कर दिया जाता। उनके माथे।

एन्जिल्स चार हवाओं को पकड़े हुए हैं, जो एक क्रोधित घोड़े के रूप में दर्शाए गए हैं, जो पूरी पृथ्वी के चेहरे पर टूटने और पूरी पृथ्वी पर दौड़ने की कोशिश कर रहा है, इसके रास्ते में विनाश और मृत्यु आ रही है ... जबकि उनके हाथ ढीले हो रहे थे, और चारों हवाएँ चलने वाली थीं , यीशु की दयालु दृष्टि शेष बचे हुए लोगों पर टिकी थी जो मुहरबंद नहीं थे, और उसने अपने हाथों को पिता के पास उठाया और उससे याचना की कि उसने उनके लिए अपना लहू बहाया है। फिर एक और स्वर्गदूत को चारों स्वर्गदूतों के पास तेजी से उड़ने और उन्हें तब तक पकड़ने के लिए कहा गया जब तक कि परमेश्वर के सेवकों के माथे पर जीवित परमेश्वर की मुहर के साथ मुहर नहीं लगा दी गई। माई लाइफ टुडे, 308।


"समय लगभग समाप्त हो गया है ... परी ने कहा," तैयार हो जाओ, तैयार हो जाओ, तैयार हो जाओ ... " मैंने देखा कि उनके लिए करने के लिए एक महान कार्य था और इसे करने के लिए बहुत कम समय था... फिर मैंने देखा कि जिन लोगों के पास आश्रय नहीं है उन पर सात अंतिम विपत्तियाँ शीघ्र ही उंडेली जाने वाली थीं...।"

अर्ली राइटिंग्स, पृष्ठ 64 (जोर दिया गया)।


संयुक्त राज्य अमेरिका नागरिक युद्ध

11 सितंबर भविष्यवाणी 1902 में लिखी गई

एक अवसर पर, जब न्यूयॉर्क शहर में, मैं रात के मौसम में स्वर्ग की ओर कहानी के बाद कहानी बढ़ती इमारतों को देखने के लिए बुलाया गया था। इन इमारतों को अग्निरोधक होने का वारंट दिया गया था, और उन्हें मालिकों और बिल्डरों का महिमामंडन करने के लिए खड़ा किया गया था। ऊंची और इससे भी ऊंची ये इमारतें उठीं, और उनमें सबसे महंगी सामग्री का इस्तेमाल किया गया। . . .

इसके बाद जो दृश्य मेरे सामने से गुजरा वह आग का अलार्म था। पुरुषों ने ऊँचे और कथित रूप से आग से सुरक्षित इमारतों को देखा और कहा: "वे पूरी तरह से सुरक्षित हैं।" लेकिन ये इमारतें पिच की बनी हुई थीं। दमकल की गाड़ियां तबाही को रोकने के लिए कुछ नहीं कर सकीं। दमकलकर्मी इंजनों को चलाने में असमर्थ थे।—चर्च के लिए गवाही, वॉल्यूम। 9, पीपी. 12, 13.

वह समय हमारे ऊपर सही है जब दुनिया में ऐसा दुःख होगा जिसे कोई भी मानव बाम ठीक नहीं कर सकता। दुनिया पर अंतिम महान विनाश आने से पहले ही, मनुष्य की महानता के चापलूसी वाले स्मारक धूल में धंस जाएंगे। परमेश्वर का प्रतिशोधात्मक न्याय उन पर पड़ेगा जो महान प्रकाश के सामने पाप में बने रहे हैं। महंगी इमारतें, जिन्हें अग्निरोधी माना जाता है, खड़ी की जाती हैं। लेकिन जैसे सदोम परमेश्वर के प्रतिशोध की लपटों में नष्ट हो गया, वैसे ही ये गर्वित संरचनाएं राख बन जाएंगी।—साइन्स ऑफ द टाइम्स, अक्टूबर 9, 1901, बल दिया गया। वह समय हमारे ऊपर सही है जब दुनिया में ऐसा दुःख होगा जिसे कोई भी मानव बाम ठीक नहीं कर सकता। दुनिया पर अंतिम महान विनाश आने से पहले ही, मनुष्य की महानता के चापलूसी वाले स्मारक धूल में धंस जाएंगे। परमेश्वर का प्रतिशोधात्मक न्याय उन पर पड़ेगा जो महान प्रकाश के सामने पाप में बने रहे हैं। महंगी इमारतें, जिन्हें अग्निरोधी माना जाता है, खड़ी की जाती हैं। लेकिन जैसे सदोम परमेश्वर के प्रतिशोध की लपटों में नष्ट हो गया, वैसे ही ये गर्वित संरचनाएं राख बन जाएंगी।—साइन्स ऑफ द टाइम्स, अक्टूबर 9, 1901, बल दिया गया।


कुछ एसडीए चर्च रविवार की पूजा का आग्रह करते हैं

इन अंतिम दिनों में यहोवा का अपने तथाकथित लोगों के साथ विवाद है। इस विवाद में जिम्मेदार पदों पर बैठे लोग नहेमायाह द्वारा अपनाए गए मार्ग के ठीक विपरीत मार्ग अपनाएंगे। वे न केवल खुद सब्त की अवहेलना और तिरस्कार करेंगे, बल्कि रीति-रिवाजों और परंपराओं के कचरे के नीचे दफ़न करके इसे दूसरों से दूर रखने की कोशिश करेंगे। चर्चों में और खुली हवा में बड़ी सभाओं में, मंत्री लोगों से सप्ताह के पहले दिन को मनाने की आवश्यकता का आग्रह करेंगे। समुद्र और भूमि पर विपत्तियाँ हैं: और ये विपत्तियाँ बढ़ेंगी, एक विपत्ति के बाद दूसरी विपत्ति; और कर्तव्यनिष्ठ सब्त-पालकों के छोटे समूह को उन लोगों के रूप में इंगित किया जाएगा जो रविवार की अवहेलना करके दुनिया पर परमेश्वर के क्रोध को ला रहे हैं। आरएच मार्च 18 1884


इस्लाम और रहस्योद्घाटन 9 और 3 हाय


"मैंने एक और स्वर्गदूत को जीवित परमेश्वर की मुहर लिए हुए पूर्व से ऊपर की ओर जाते हुए देखा, और उसने चारों स्वर्गदूतों से बड़े शब्द से पुकार कर कहा, जब तक हम उस पर मुहर न लगा दें, तब तक न तो पृथ्वी को हानि पहुंचाओ, न समुद्र को और न पेड़ों को। हमारे परमेश्वर के सेवकों के माथे पर। प्रका. 7:2, 3. चार पराक्रमी स्वर्गदूत अब भी पृथ्वी की चारों हवाओं को थामे हुए हैं। घोर विनाश पूर्ण रूप से आना मना है। भूमि और समुद्र के द्वारा दुर्घटनाएँ; जीवन की हानि, लगातार बढ़ रही है, तूफान से, आंधी से, रेल दुर्घटना से, आग लगने से; भयानक बाढ़, भूकंप, और हवाएँ राष्ट्रों को एक घातक युद्ध के लिए हिलाना होगा, जबकि स्वर्गदूत चारों हवाओं को रोकते हैं, शैतान की भयानक शक्ति को उसके क्रोध में तब तक प्रयोग करने से रोकते हैं जब तक कि परमेश्वर के सेवकों को सील नहीं कर दिया जाता। उनके माथे। एन्जिल्स चार हवाओं को पकड़े हुए हैं, जो एक क्रोधित घोड़े के रूप में दर्शाए गए हैं, जो पूरी पृथ्वी के चेहरे पर टूटने और पूरी पृथ्वी पर दौड़ने की कोशिश कर रहा है, इसके रास्ते में विनाश और मृत्यु आ रही है ... जबकि उनके हाथ ढीले हो रहे थे, और चारों हवाएँ चलने वाली थीं , यीशु की दयालु दृष्टि शेष बचे हुए लोगों पर टिकी थी जो मुहरबंद नहीं थे, और उसने अपने हाथों को पिता के पास उठाया और उससे याचना की कि उसने उनके लिए अपना लहू बहाया है। फिर एक और स्वर्गदूत को चारों स्वर्गदूतों के पास तेजी से उड़ने और उन्हें तब तक पकड़ने के लिए कहा गया जब तक कि परमेश्वर के सेवकों के माथे पर जीवित परमेश्वर की मुहर के साथ मुहर नहीं लगा दी गई। माई लाइफ टुडे, 308।

अधिकांश दूरस्थ स्थानों को छोड़ दें

"रोमन सेनाओं द्वारा यरूशलेम की घेराबंदी के रूप में यहूदी ईसाइयों के लिए पलायन का संकेत था, इसलिए हमारे राष्ट्र की ओर से सत्ता की धारणा, पापल सब्त को लागू करने के आदेश में, हमारे लिए एक चेतावनी होगी। तब यह बड़े शहरों को छोड़ने का समय होगा, छोटे शहरों को पहाड़ों के बीच एकांत स्थानों में सेवानिवृत्त घरों के लिए छोड़ने की तैयारी।” (गवाही, खंड 5, पीपी. 464, 465)

“शहर प्रलोभन से भरे हुए हैं। हमें अपने काम की योजना इस तरह से बनानी चाहिए कि हमारे युवा लोगों को इस संदूषण से यथासंभव दूर रखा जा सके। चौकियों से नगरों का कार्य किया जाना है। भगवान के दूत ने कहा, 'क्या शहरों को चेतावनी नहीं दी जाएगी? हां, लेकिन उनमें रहने वाले भगवान के लोगों द्वारा नहीं, बल्कि पृथ्वी पर आने वाली घटनाओं के बारे में उन्हें चेतावनी देने के लिए उनके आने से।

'जैसा कि ईसाईजगत के विभिन्न शासकों द्वारा आज्ञा के रखवालों के खिलाफ जारी किए गए फरमान से सरकार की सुरक्षा वापस ले ली जाएगी, और उन्हें उन लोगों के लिए छोड़ दिया जाएगा जो उनके विनाश की इच्छा रखते हैं, भगवान के लोग शहरों और गांवों से भाग जाएंगे और कंपनियों में एक साथ रहेंगे, में रहेंगे। सबसे उजाड़ और एकांत स्थान। बहुत से लोग पहाड़ों के गढ़ों में शरण पाएंगे…

.

लेकिन सभी राष्ट्रों और सभी वर्गों, उच्च और निम्न, अमीर और गरीब, काले और सफेद, को सबसे अन्यायपूर्ण और क्रूर बंधन में डाल दिया जाएगा। परमेश्वर के प्रेमी थके हुए दिन जंजीरों में बंधे हुए, जेल की सलाखों में बंद, मारे जाने की सजा से गुजरते हैं, कुछ स्पष्ट रूप से अंधेरे और घिनौने कालकोठरी में भूखे मरने के लिए छोड़ दिए जाते हैं।—द ग्रेट कॉन्ट्रोवर्सी, 626 (1911)। बहुत जल्द समाप्त

"समय लगभग समाप्त हो गया है ... परी ने कहा," तैयार हो जाओ, तैयार हो जाओ, तैयार हो जाओ ... " मैंने देखा कि उनके लिए करने के लिए एक महान कार्य था और इसे करने के लिए बहुत कम समय था... फिर मैंने देखा कि जिन लोगों के पास आश्रय नहीं है उन पर सात अंतिम विपत्तियाँ शीघ्र ही उंडेली जाने वाली थीं...।"

अर्ली राइटिंग्स, पृष्ठ 64 (जोर दिया गया)।

संयुक्त राज्य अमेरिका नागरिक युद्ध


एलेन व्हाइट की एक और दृष्टि अमेरिका में गृहयुद्ध से संबंधित थी। गृहयुद्ध शुरू होने से 3 महीने पहले उसके पास दृष्टि थी, और उसने कहा ...

“इस घर में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है जिसने इस भूमि पर आने वाली विपत्ति के बारे में स्वप्न में भी नहीं सोचा हो। लोग दक्षिण कैरोलिना के अलगाव अध्यादेश का मजाक उड़ा रहे हैं, लेकिन मुझे अभी दिखाया गया है कि बड़ी संख्या में राज्य उस राज्य में शामिल होने जा रहे हैं, और सबसे भयानक युद्ध होगा। इस दर्शन में मैंने युद्ध के मैदान में दोनों ओर की बड़ी-बड़ी सेनाएँ इकट्ठी देखी हैं। मैंने तोप की गड़गड़ाहट सुनी, और हर तरफ मरे हुए और मरते हुए देखा। फिर मैंने देखा कि वे हाथ से हाथ मिलाते हुए [एक दूसरे को संगीन से पीटते हुए] दौड़कर आए हैं। फिर मैंने युद्ध के बाद मैदान देखा, सब मुर्दों से ढका हुआ और मरा हुआ था। तब मुझे बन्दीगृह में ले जाया गया, और मैंने उन दरिद्रों की पीड़ा देखी, जो नाश हो रहे थे। फिर मुझे उन लोगों के घर ले जाया गया जिनके पति, बेटे या भाई युद्ध में मारे गए थे। मैंने वहाँ संकट और पीड़ा देखी।” …

फिर उसने कमरे में चारों ओर उन लोगों को देखा जो उसके साथ थे और बोली...

"इस घर में वे लोग हैं जो उस युद्ध में पुत्रों को खो देंगे।" (ई.जी.व्हाईट, रिमार्क्स एट पार्कविले, मिशिगन, 31 जनवरी, 1893) - जनरल कांफ्रेंस डेली बुलेटिन, 2002, एस. 37) जब एलेन व्हाइट ने इस दृष्टि को प्रकट किया, तो आम धारणा यह थी कि युद्ध की संभावना नहीं थी। और अगर यह आया भी, तो यह संक्षिप्त होगा और कुछ हताहतों का परिणाम होगा। फिर भी एलेन व्हाइट ने जो कहा वह पूरा हुआ और अत्यंत सटीक था।

क्या आपने पहले यीशु को अपने हृदय में स्वीकार किया है? मेरे बाद दोहराएं पिता परमेश्वर मेरे हृदय में आएं, मेरे पापों को क्षमा करें, मुझे आशीर्वाद दें और मुझे चंगा करें। मुझे अपनी धार्मिकता दो, मुझे यीशु के नाम पर अपनी इच्छा के अनुसार मेरे दिल की इच्छाओं को दो EARTHLASTDAY.COM



2 दृश्य0 टिप्पणी

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें

Commenti


CHURCH FUEL BANNER.png
PAYPAL DONATE.jpg
BEST BIBLE BOOKSTORE.png
DOWNLOAD E BOOK 2.png
bottom of page